Verification: 0e7ed2dbe8508060
0 votes
20 views
in Vedic Astrology - Education by (36.9k points)

जन्म कुंडली के प्रथम भाव में राहु

1 Answer

0 votes
by (36.9k points)
 
Best answer

आइए हम पहले यह समझें कि पहला घर  / प्रथम भाव क्या दर्शाता है: यह घर व्यक्तित्व, शरीर, प्रसिद्धि, जन्म स्थान, आत्म, सम्मान, आत्म-सम्मान, मन की शांति, वर्तमान जीवन, जटिलता, स्वास्थ्य, दीर्घायु, सिर, मस्तिष्क और सहनशक्ति का प्रतिनिधित्व करता है ।

जन्म कुंडली के प्रथम भाव में राहु: ऐसे जातक बहुत स्वार्थी होते हैं। वे इतने स्वार्थी होते हैं कि वे अपने जीवनसाथी को धोखा भी दे सकते हैं जिसके कारण ऐसे जातक का विवाहित जीवन संघर्षों में रहता है। ऐसे जातक हमेशा अपने लाभ के बारे में सोचते हैं और अपने लाभ के लिए, वे किसी से भी झूठ बोल सकते हैं। अपने लक्ष्य / लक्ष्य को पाने के लिए ऐसे व्यक्ति कुछ भी कर सकते हैं और अपने लाभ के लिए किसी को भी धोखा दे सकते हैं। ऐसे जातक बहुत बातूनी हैं और आप उन्हें आसानी से नहीं आंक सकते। जिनकी कुंडली के प्रथम भाव मे राहु होता है  अपने माता-पिता और वृद्धों जैसे बुजुर्गों के प्रति सम्मानीय होते हैं।

यदि जन्म कुंडली के पहले भाव में राहु और शुक्र की युति हो तो ऐसे जातक धनवान तो बनेंगे लेकिन अपने धन का आनंद नहीं लेंगे। लेकिन ऐसे जातक अपनी पूंजी का आनंद नही ले पाएँगे एवं ऐसे जातक के घर मे यदि कोई ऐसा व्रक्ति है जिसके ग्रह बहुत शुभ है वह ऐसे धन का आनंद लेता है  ऐसा धन  धोखा और धोखाधड़ी से आता हैं। यदि शुक्र और राहु की युति हो तो ऐसे जातक यौन जीवन से ग्रस्त होते हैं और वे अपनी यौन इच्छाओं को पूरा करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

ऐसे व्यक्ति विश्वसनीय नहीं होते हैं और आप उन पर आसानी से भरोसा नहीं कर सकते हैं।

यदि गुरु (बृहस्पति) राहु का शुभ घर से पहलू है तो राहु का नकारात्मक परिणाम कम हो जाएगा। ऐसे जातक प्रायः सिरदर्द और पेट की समस्याओं से पीड़ित होते हैं।

जन्म कुंडली के प्रथम भाव में राहु वाले जातकों के लिए उपाय:

1. ऐसे जातक को अपने ससुराल से किसी भी प्रकार के बिजली के उपकरण नहीं लेने चाहिए

2. ऐसे जातक को शनिवार को काले कंबल, काले कपड़े का दान करना चाहिए

3. इस तरह के जातक को मंत्र का जाप करना चाहिए: ओम् भ्रं भ्रीं भ्रं सः राहवे नमः ं भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहे नमः इस मंत्र का जाप 40 दिनों के भीतर 18000 बार करना चाहिए, इस मंत्र का जाप करने वाले को मंत्र का उच्चारण कैसे करना चाहिए, इसके बारे में अच्छी तरह से पता होना चाहिए।

4. ऐसे  जातक को नीले कपड़े पहनने से बचना चाहिए।

5. किसी भी गरीब को नारियल का दान करना चाहिए।

Sachin Sharmaa,

For Mathematics E-books : https://mathstudy.in/

For questions : https://astrologyforum.net

...